[7 Step] Sabji Ka Business Kaise Shuru Kare – लागत, मुनाफे की पूरी जानकारी

दोस्तों अगर आप सब्जियों के बिजनेस शुरू करने के बारे में सोच रहे हैं तो यह बहुत ही अच्छा आईडिया है क्योंकि सब्जी एक ऐसा चीज है जो हर घर की जरूरत होती है । आइए हम आपको बताते हैं कि आप कैसे इस बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं-

Table of Contents

[7 Step] Sabji Ka Business Kaise Shuru

स्टेप 1 बिजनेस प्लान तैयार करें

दोस्तों सब्जियों का बिजनेस शुरू करने के लिए सबसे पहला स्टेप है एक तगड़ा बिजनेस प्लान तैयार करना। बिजनेस प्लान में आपको अपने बिजनेस का विजन मिशन और गोल्ड को लिखना होगा साथ में आपको यह डिटेल्स भी शामिल करनी होगी कि आप मार्केट रिसर्च कैसे करेंगे, अपने कंपीटीटर को एनालाइज करेंगे और टारगेट ऑडियंस साथ में आपके पोटेंशियल कस्टमर कौन है इसकी जानकारी भी लेंगे।

इसके अलावा आपको अपने बिजनेस के फाइनेंस एल मुद्दों को भी इस प्लान में लिखना होगा जैसे कि इन्वेस्टमेंट कितना लगेगा , आप इस बिजनेस को कैसे मैनेज करेंगे आदि। 

दोस्तों एक अच्छा बिजनेस प्लान बनाने से आपको बिजनेस से की भविष्य को लेकर ज्यादा चिंता नहीं होगी और आप आने वाले चैलेंज से भी यानी की समस्या दिक्कत से भी बच जाएंगे। 

स्टेप 2 – बिजनेस रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस प्राप्त करें

दोस्तों सब्जियों के बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको अपने राज्य या एरिया के रूल्स को फॉलो करना होगा और इसके मुताबिक बिजनेस रजिस्ट्रेशन या आवश्यक लाइसेंस प्राप्त करना होगा। अगर आप जाना चाहते हैं कि इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको किन लाइसेंस या डॉक्यूमेंट की आवश्यकता होगी तो इसके लिए आप अपने लोकल के नगर पालिका या नगर निगम में इसकी जानकारी ले सकते हैं। 

स्टेप 3 बिजनेस की लोकेशन और इंफ्रास्ट्रक्चर तय करें

दोस्तों सब्जियों के बिजनेस को रिटेल लेवल और होलसेल लेवल लेवल पर शुरू किया जा सकता है तो सब्जियों का बिजनेस शुरू करने के लिए आप अपने बिजनेस का प्रकार और उसका लोकेशन जरूर तय करें। 

अगर आप सब्जियों का बिजनेस करने के लिए रिटेल शॉप खोलना चाहते हैं तो इसके लिए आपको एक अच्छे लोकेशन का चुनाव होगा। आपका लोकेशन किसी ऐसी जगह पर होना चाहिए जहां कस्टमर आसानी से पहुंच सके।  वैसे आप चाहें तो बिजनेस की लोकेशन के लिए आप मार्केट रिसर्च कर सकते हैं और ऐसा जगह ढूंढ सकते हैं जहां पर ज्यादा लोग सब्जी ना बेचते हो। अगर आप कोई ऐसी लोकेशन ढूंढ पाते हैं तो यकीन मानिए आपको कस्टमर की बिलकुल भी कमी नही होगी। 

दोस्तों यह तो रही लोकेशन की बात लेकिन आपको अपने सब्जियों का सुरक्षित रूप से स्टोर करने के लिए एक अच्छे इंफ्रास्ट्रक्चर की जरूरत होगी जिसमें स्टोरेज से लेकर पैकेजिंग और सब्जियों को प्रॉपर तरीके से डिस्प्ले करने के लिए जगह चाहिए होगा। 

स्टेप- 4 पूंजी का बंदोबस्त करें

दोस्तों सब्जियों का बिजनेस शुरू करने के लिए आपको कुछ इन्वेस्टमेंट की जरूरत होगी। इसके लिए आप अपने घर से पैसों का जुगाड़ कर सकते हैं या फिर आस पड़ोस या किसी दोस्तों से उधार ले सकते हैं। वैसे सब्जी का बिजनेस शुरू करने के लिए आपको इतने पैसों की जरूरत नहीं होगी लेकिन अगर आप बड़े लेवल पर यह बिजनेस करेंगे तो ज्यादा पैसे लगाने पड़ेंगे। इसलिए पैसों का बंदोबस्त पहले से ही कर लें ताकि बाद में आपको किसी तरह का दिक्कत ना हो। 

स्टेप- 5 सप्लायर की लिस्ट बनाएं

दोस्तों चाहे आप सब्जियों का रिटेल बिजनेस करना चाहते हो या फिर होलसेल बिजनेस इसके लिए आपके पास सही सप्लायर होना बहुत जरूरी है ताकि आपको सस्ते दाम में अच्छी क्वालिटी का माल मिल सके जिससे बीच के आप मोटा मुनाफा कमा सकें। 

अगर आप जानना चाहते हैं कि आपके एरिया के आसपास कौन सा सप्लायर बेस्ट है तो इसके लिए आपको सभी सप्लायर की लिस्ट बनानी होगी और एक-एक करके सभी से बात करना होगा कि वह किस नाम पर माल देंगे। जब आप सभी से बात कर लेंगे तो आपको पता चल जाएगा कि किस सप्लायर से आपको अपने बिजनेस के लिए माल लेना चाहिए। 

बता दें कि इस सप्लायर की जानकारी आपको लोकल की सब्जी मंडी से मिल जाएगी या फिर आप अपने आसपास के सब्जी उगाने वाले अलग-अलग में भी फर्म में जाकर सब्जी के थोक भाव जान सकते हैं। 

स्टेप 6 लोगों को रखें काम पर

दोस्तों अगर आपको बिजनेस से बड़े लेवल पर चल रहा है तो आपको कुछ लोगों को काम भी पर रखना पड़ेगा। आप अपने टीम में एक्सपीरियंस्ड और स्किल्ड लोगों को ही रखें जिन्हें सब्जियों के स्टोरेज , पैकेजिंग और सेलिंग के बारे में जानकारी हो और साथ में इन्हें नियमित तौर पर ट्रेनिंग वगैरा भी देते रहें जिससे उनका स्किल और भी बढ़ता रहे। 

स्टेप- 7 अपने बिजनेस की मार्केटिंग करें

दोस्तों सब्जियों के बिजनेस शुरू हो जाने के बाद सेल्स बढ़ाने के लिए आपको अपने बिजनेस की मार्केटिंग करना होगा। बिजनेस की मार्केटिंग करने के लिए आप सोशल मीडिया और अन्य ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर सकते हैं। यहां पर अपने टारगेटेड ऑडियंस तक आसानी से पहुंच सकते हैं। 

आप चाहे तो ऑनलाइन मार्केटिंग करने के अलावा लोकल जगह पर होने वाले इवेंट्स में जाकर भी अपने बिजनेस का प्रचार प्रसार कर सकते हैं। इसके अलावा न्यूज़ पेपर में विज्ञापन देकर या पोस्टर/ बैनर लगवाकर भी बिजनेस की मार्केटिंग कर सकते हैं। 

दोस्तों मार्केटिंग के दौरान अगर आप अपने सब्जियों पर मिलने वाले डिस्काउंट के बारे में जिक्र करेंगे तो आपको बिक्री बढ़ाने के संभावना बढ़ जाएगी। 

सब्जियों की क्वालिटी और कस्टमर सर्विस पर ध्यान देना है जरूरी

दोस्तों अगर आप सब्जी के बिजनेस में सफलता पाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सब्जियों की क्वालिटी और कस्टमर सर्विस पर विशेष ध्यान देना होगा। क्योंकि सब्जियों के क्वालिटी  के लिए कस्टमर पूरी तरह से आपके ही ऊपर निर्भर रहते हैं।

अगर आप उनकी जरूरत का ख्याल नहीं रखेंगे तो वह आपके यहां आना बंद कर सकते हैं इसलिए आपको सब्जी की क्वालिटी के साथ-साथ अच्छे कस्टमर सर्विस का भी ख्याल रखें।  अगर आप कस्टमर और उनकी जरूरतों का ख्याल रखेंगे तो उनका आपके ऊपर भरोसा बढ़ेगा और वह आपसे जुड़े रहेंगे। 

दोस्तों अगर कभी किसी कस्टमर का कोई शिकायत या कंप्लेंट आता है तो आप उन्हें हल्के में ना ले बल्कि उसे समझने की कोशिश करें कि आखिर लोगों को क्या दिक्कत है और आप इस समस्या को कैसे इसे हल कर सकते हैं।

सब्जियों के बिजनेस में सफलता पाने के लिए टिप्स-

  • अपने कस्टमर को हमेशा हाई क्वालिटी की ताजी सब्जियां ही दें
  • मार्केट में मौजूद दूसरे कंप्यूटर के बिजनेस और उनकी स्ट्रेटजी पर नजर रखें। 
  • अपने दूसरे कंप्यूटर के द्वारा बेचे जाने वाले भाव और डिस्काउंट को देखें और उससे कम दाम में सब्जी बेचकर ज्यादा से ज्यादा ग्राहक को आकर्षित करें।
  • अपने बिजनेस को बड़े लेवल पर ले जाने के लिए होम डिलीवरी सर्विस शुरू करें
  • जब भी कस्टमर आपके यहां सब्जी लेने आए तो उन्हें खुद के द्वारा प्रिंट किए हुए थैली या फिर पॉलिथीन में डालकर सब्जी दें। इससे उन पर आपके बिजनेस नाम यानी बिजनेस के ब्रांड का एक अच्छा फर्क पड़ेगा और दूसरे लोग जब इस थैले को देखेंगे तो उन्हें भी पता चलेगा कि आप किसके यहां सब्जी ला रहे हैं। यह चीज कहीं ना कहीं लोगों में भरोसा जगाएगा कि उस जगह की सब्जी अच्छी होती होगी इसलिए लोग वहां से खरीद रहे हैं। इस तरह और लोग भी आपके यहां से सब्जी खरीदना शुरु कर देंगे। 

सब्जियों के बिजनेस को आगे कैसे बढ़ाएं

दोस्तों अगर आप सब अपने सब्जियों के बिजनेस को आगे बढ़ना चाहते हैं तो इसके लिए आपको हमारे कुछ आसान से टिप्स को फॉलो करना होगा। अगर आप इन टिप्स को फॉलो करते हैं तो इससे आपको बिजनेस को आगे ले जाने में काफी मदद मिलेगी

  • सब्जियां हमेशा फ्रेश , हाई क्वालिटी की होनी चाहिए तभी कस्टमर आपके पास आएंगे। अगर उन्हे आपके सब्जी की क्वालिटी पसंद आता है तो फिर वह बार-बार आएंगे।
  • अपने कस्टमर की जरूरत को समझें और उनके पसंद के हिसाब से सब्जियों का कलेक्शन रखें।
  • दोस्तों आज के टाइम पर सब कुछ ऑनलाइन हो चुका है इसलिए सब्जियों की बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए आपको ऑनलाइन आना होगा। आप अपने बिजनेस को सोशल मीडिया पर प्रमोट करें और हो सके तो लोगों को ऑनलाइन सब्जी की डिलीवरी करना शुरू कर दें।
  • दोस्तों अपने बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए आपको कस्टमर सर्विस पर फोकस करना होगा। कस्टमर की जो भी समस्या हो उनको ध्यान से सुने और उनकी समस्याओं का समाधान करें।
  • दोस्तों अपने बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए आपको डिलीवरी नेटवर्क का विस्तार करना होगा। आप लोकल एरिया से बाहर अभी अपने सब्जियों की डिलीवरी करें इससे आप बड़े लेवल पर बिजनेस को कर पाएंगे। 
  • इस बात का ध्यान रखें की सब्जी का बिजनेस बढ़ाने के लिए आपको हमेशा मार्केट की ट्रेंड के अनुसार चलना होगा और उसी के मुताबिक अपनी बिजनेस स्ट्रेटजी को एडजस्ट करना होगा। 

सब्ज़ी का बिज़नेस शुरू करने में कितना लगेगा आयेगा।

दोस्तों बात करे कि सब्जी का व्यापार शुरू करने में कितना लागत आएगा तो यह पूरी तरह से आपके बिज़नेस स्केल, लोकेशन और इंफ्रास्ट्रक्चर पर निर्भर करती है। अगर आप एक छोटे स्केल पर इस बिजनेस को शुरू कर रहे हैं, लगभग 5-10 हजार रुपये शुरुआत में इन्वेस्ट करने की जरूरत होगी। यह अमाउंट सब्जियों की खरीद, ट्रांसपोर्टेशन, पैकेजिंग, और शॉप की रेंट या इंफ्रास्ट्रक्चर सेटअप में खर्च किया जाएगा। अगर आप एक बड़े स्केल पर शुरू कर रहे हैं, तो लागत 15-20 हजार रुपये तक जा सकता है, इसमें आपको स्टाफ की सैलरी, लाइसेंसेस, और मार्केटिंग कोस्ट्स को भी शामिल करना होगा। लेकिन, यह सिर्फ एक अनुमान है, आपको अपने लोकल मार्केट और बिज़नेस मॉडल के हिसाब से एक्सैक्ट बजट प्लान करना होगा।

सब्ज़ी के बिज़नेस में कितना मुनाफ़ा होगा।

सब्ज़ी के व्यापार में मुनाफा काफ़ी है, लेकिन ये आपके बिज़नेस ऑपरेशन, सब्ज़ी की क्वालिटी और आपके प्राइसेज़ पर डिपेंड करता है। अगर आप डायरेक्टली फ़ार्मर्स से सब्ज़ियाँ ख़रीदते हैं और व्होलसेल रेट्स पर बेचते हैं, तो आपको एक अच्छा मार्जिन मिल सकता है। इसके अलावा, अगर आप अपने कस्टमर्स को फ़्रेश और क्वालिटी प्रोडक्ट्स देते हैं, तो आपकी सेल्स बढ़ेंगे, जिससे आपका मुनाफा और भी बढ़ेगा। लेकिन, ये ध्यान रखें कि सब्ज़ी का बिज़नेस काफ़ी कंपीटिटिव है, और इसमें डे-तु-डे प्राइसेज़ फ्लक्चुएट होते हैं। ये फैक्टर्स आपके मुनाफे पर प्रभाव डाल सकते हैं, इसलिए हमेशा मार्केट trends पर नज़र रखें।

सब्ज़ी बेचने का बिज़नेस के फ़ायदे

सब्ज़ी बेचने का बिज़नेस हर समय डिमांड में रहता है क्योंकि हर घर में सब्ज़ियों का उपयोग होता है। इस बिज़नेस से जुड़ने के अनेक फ़ायदे होते हैं।

  • पहला, यह एक ऐसा बिज़नेस है जिसका मार्केट हमेशा स्थिर रहता है। चाहे किसी भी मौसम में, आपको कस्टमर्स मिलते रहेंगे क्योंकि सब्ज़ियाँ हर दिन की ज़रूरत है।
  • दूसरा, इस बिज़नेस में इन्वेस्टमेंट कम होती है और प्रॉफिट मार्जिन अच्छा है। अगर आप डायरेक्ट फ़ार्मर्स से सब्ज़ियाँ ख़रीदते हैं तो आपको उन्हें कम प्राइस में मिलेंगी और आप उन्हें मार्केट प्राइस पर बेच सकते हैं।
  • तीसरा, इसमें आपको किसी स्पेशल स्किल की ज़रूरत नहीं पड़ती। बेसिक बिज़नेस मैनेजमेंट और कस्टमर सर्विस स्किल्स के साथ आप इस बिज़नेस को सफलतापूर्वक चला सकते हैं।
  • चौथा, अगर आप अपने बिज़नेस को ऑनलाइन ले जाते हैं तो आपको और भी ज़्यादा कस्टमर्स मिल सकते हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म पर आप अपने बिज़नेस को आसानी से विस्तार कर सकते हैं और होम डिलीवरी सेवा से अपने कस्टमर्स तक पहुंच सकते हैं।
  • अंत में, सब्ज़ी बेचने का बिज़नेस एक सस्टेनेबल और इको-फ्रेंडली बिज़नेस भी है। आप लोकल फ़ार्मर्स को सपोर्ट कर रहे हैं और ताज़ा और ऑर्गेनिक सब्ज़ियाँ बेचकर लोगों की सेहत का भी ख़्याल रख रहे हैं।

तो, ये थे कुछ फायदे जिन्हें देखते हुए आप सब्ज़ी बेचने का बिज़नेस शुरू कर सकते हैं। लेकिन, ध्यान रहे कि मार्केट रिसर्च और अच्छी प्लानिंग के बिना किसी भी बिज़नेस का सफलता uncertain होता है। तो पहले अच्छी तरह से समझें मार्केट को, अपने competitors को, अपनी investment capacity को, और फ़िर decision लें

सब्ज़ी के व्यापार से नुकसान।

  • सब्ज़ी के व्यापार से नुकसान भी होता है, जो हमें समझना बहुत ज़रूरी है। सबसे पहला नुकसान है कि इस व्यापार में मौसम का सपना बहुत बड़ा होता है। अगर मौसम अच्छा ना हो, तो सब्ज़ियाँ ठीक से उगती नहीं हैं और इसका सीधा असर सब्ज़ी के व्यापार पर पड़ता है।
  • दूसरा नुकसान है कि कई बार किसानों को अपनी सब्ज़ियों की सही कीमत नहीं मिलती। बाज़ार में सब्ज़ियों के दाम उप-नीचे होते रहते हैं, इसलिए व्यापारी को नुकसान उठाना पड़ सकता है।
  • तीसरा नुकसान है कि सब्ज़ियों की शेल्फ लाइफ बहुत कम होती है। अगर सब्ज़ियाँ बेची नहीं गईं, तो उन्हें ख़राब होने से रोकना बहुत मुश्किल होता है। इसका सीधा प्रभाव व्यापारी के प्रॉफिट पर पड़ता है।
  • चौथा नुकसान है कि लोग आजकल ऑनलाइन सब्ज़ी ख़रीदना पसंद कर रहे हैं, इसलिए फूटकर सब्ज़ी बेचने वाले व्यापारियों पर इसका नेगेटिव प्रभाव पड़ रहा है।
  • पांचवा नुकसान है कि सब्ज़ियों के व्यापार में बहुत ज्यादा प्रतिस्पर्धा है। हर कोई अच्छे दाम में फ्रेश सब्ज़ी बेचना चाहता है, इसलिए कस्टमर से loyalty बनाने में समस्या हो सकती है।

इन सब समस्याओं का समाधान ढूंढना और इस प्रकार के नुकसान से बचने के लिए व्यापारी को अच्छी योजना और स्ट्रेटेजी की ज़रूरत होती है।

अक्सर पूंछे जाने वाले सवाल

सब्जियां महंगी क्यों हो रही हैं?

सब्जियों की फसलों पर जलवायु परिवर्तन का प्रभाव और उसका शमन नामक अध्ययन के मुताबिक, बदलती जलवायु परिस्थितियों में फसल की विफलता, कम पैदावार, गुणवत्ता में कमी और कीट और बीमारी के मुद्दों में वृद्धि होती है, जिससे सब्जी उत्पादन लाभहीन हो जाता है।

सब्जियां खरीदने के लिए कौन-कौन से तरीके हैं?

त्वचा पर कोई अंकुरण होने पर सब्जी नहीं खरीदनी चाहिए। बड़े और सख्त आलू खरीदने चाहिए। हमेशा चमकीले लाल रंग के टमाटर चुनने चाहिए। उसी दिन पकाने के लिए, नरम टमाटर चुन सकते हैं, लेकिन अगले सप्ताह के लिए सख्त टमाटर चुनने चाहिए।

सब्जी बेचने वाले का वर्णन कैसे करेंगे?

सब्जी बेचने वाला व्यक्ति “ग्रींग्रोसर” कहलाता है।

किन सब्जियों में सबसे ज्यादा प्रॉफिट मार्जिन होता है?

माइक्रोग्रीन्स

किस भारतीय सब्जी में उच्च फाइबर होता है?

शकरकंद की सब्जी में उच्च फाइबर होता है

फल बेचने में कितना फायदा होता है?

फल व्यवसाय की दुकान में, आप 30% या अधिक कमा सकते हैं।

भारत की सबसे महंगी सब्जी क्या है?

भारत में बिकने वाली सबसे महंगी सब्जी केर सांगरी है.

भारत में किस सब्जी की ज्यादा मांग है?

भारत में आलू की ज्यादा मांग होती है.

सब्जी का व्यापार कैसे शुरू करें?

सब्जी का व्यापार शुरू करने के लिए, उपज को बढ़ाने की जरूरत होती है। उपज को खेत में या छोटे से शुरू करके सीधे ग्राहकों को प्राप्त किया जा सकता है।

सब्जी का होलसेल बिजनेस कैसे शुरू करें?

सब्जियों का होलसेल व्यापार शुरू करने के लिए, 5000 रुपये या इससे अधिक की आवश्यकता होगी। यह बिजनेस सब्जियों के कीमत पर निर्भर करेगा।

सब्जी की खेती में कितना मुनाफा होता है?

अगर बड़े लेवल पर सब्जी की खेती किया जाए तो इससे महीने में 50 से 60 हजार रुपये का मुनाफा हो सकता है।

सब्जी बेचने में कितना फायदा है?

सब्जी और फलों के कारोबार में लगभग 30 से 40 प्रतिशत की बचत होती है।

निष्कर्ष

तो दोस्तों ऊपर दिए गए जानकारी की मदद से अब आप समझ गए होंगे कि सब्जियों का बिजनेस कैसे शुरू कर सकते हैं। लेकिन दोस्तों यह जानकारी ही काफी नहीं है अगर आप इस बिजनेस में सफलता पाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी ,धैर्य रखना होगा और अपने कस्टमर की जरूरत को समझ कर मार्केट के हिसाब से बिजनेस करना होगा।

हम आशा करते हैं कि इस आर्टिकल में दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और सब्जियों का बिजनेस शुरू करने में इससे आपको काफी मदद मिलेगी। 

तो अब हमें दीजिए इजाजत मिलेंगे किसी नई पोस्ट में नई जानकारी के साथ तब तक बने रहिए BUSINESS KE IDEAS ब्लॉग के साथ।

Leave a Comment